Sidhu Moosewala
Sidhu Moosewala: सिद्दू मूसेवाला के केस मैं एक और सफलता मिली है सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस जांच में सामने आया था कि पहले प्रशंसक बनकर मूसेवाला की रेकी की गई थी और फिर उसे गोलियां मारी गई थीं। पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में पंजाब पुलिस ने बठिंडा से केशव और चेतन को हिरासत में ले लिया है। सूत्रों के अनुसार, केशव ने मूसेवाला पर हमला करने वालों को हथियारों की आपूर्ति की थी। हमले से पहले केशव एक अन्य आरोपी संदीप उर्फ केकड़ा के साथ था जिसने रेकी की थी। केशव गैंगस्टर लाली मौड के ग्रुप का सदस्य है। लाली मौड़ के संबंध गोल्डी बराड़ से होने के कारण सिद्धू हत्याकांड के लिए केशव को भी अन्य शूटरों के साथ शामिल किया गया था। गैंगस्टर मौड अपने ग्रुप में सबसे ज्यादा भरोसा केशव पर ही करता है। केशव ने करीब ढाई वर्ष पहले भी लाली मौड के साथ मिलकर ललित कुमार नामक युवक की गोलियां मारकर हत्या कर दी थी। सूत्रों ने बताया कि सिद्धू की हत्या के लिए जो हथियार केशव ने उपयोग किया था वो उनके गैंग का ही है। 29 मई को केकड़ा निवासी कालांवाली अपने साथी निक्कू निवासी तख्तमल जिला सिरसा और केशव को साथ लेकर मूसा गांव पहुंचा था। उक्त तीनों आरोपी मोटरसाइकिल पर गए थे। जहां पर केकड़ा और निक्कू केशव को मूसेवाला के घर से थोड़ी दूरी पर उतारकर खुद मूसेवाला के घर पहुंचे थे। दोनों ने ही मूसेवाला के साथ सेल्फी ली और वहां काफी देर तक रुक कर जानकारी जुटाई थी। इसके बाद केकड़ा और निक्कू बाहर आए और केशव को बाइक पर साथ लेकर चले गए थे। इस के बाद केकड़ा ने निक्कू और केशव को अपनी बाइक से उतार दिया। दोनों आरोपी कोरोला गाड़ी में सवार हो गए थे और केकड़ा खुद बाइक पर ही निकल गया था। उसी दिन शाम को मूसेवाला की गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी।