India Schem

India Schem : जब से भाजपा सरकार सत्ता में आई है तभी से भाजपा सरकार के ऊपर आरोप लगता रहा है कि यह सरकार उद्योगपतियों की सरकार है इसमें सिर्फ उद्योगपतियों के लिए ही फायदा पहुंचाया है आज हम इसी चीज को जानेंगे कि भाजपा सरकार 2014 में आने के बाद कितने उद्योगपतियों को कितना फायदा हुआ और देश की जनता को कितना फायदा हुआ
लोगों का मानना है कि जब से भाजपा सरकार आई है तब से उद्योगपतियों की संपत्ति में बढ़ावा हुआ लेकिन आम जनता की कमाई में कोई बढ़ावा नहीं हुआ है India Schem :

जब मोदी जी सत्ता में आए थे उसी समय नीरव भाई, मेहुल भाई और माल्या भाई बैंको से घोटाले करके भागे थे तो उनके कर्जे को हम कभी हाई चार्जेज देकर तो कभी हम अपने पैसे पर कम ब्याज पाकर चुका ही रहे थे कि मोदी जी के एक और भाई ऋषि भाई की देनदारी हमें चुकाने के लिये सर पर आ गयी।

लोगों का मानना है कि किसानों और आम जनमानस की आय दुगुनी हुई हो या न हुयी हो लेकिन घोटाले करने वालों की आय दुगुनी हो गई है जैसे मोदी जी जब सत्ता में आये थे तो नीरव भाई के घोटाले की आय 11 हजार करोड़ की थी लेकिन आय में तेजी से बढ़त के साथ ऋषि भाई 22 हजार करोड़ तक पहुँच गये है।

अगर मोदी जी की दयादृष्टि, कृपादृष्टि ऐसे ही बनी रही तो ऐसे ही नीरव और ऋषि भाईओं की आय बढ़ती रहेगी और हम भरते रहेंगे।India Schem :

India Schem :भाजपा सरकार मैं कहाँ तक पहुँची घोटालेबाजों की लिस्ट

विजय माल्या ( Vijay Malya ) मेहुल चौकसी ( Mehul Choksi ) इसी का भांजा नीरव मोदी ( Nirav Modi ) 2018 फरबरी मैं इनके घोटाले का खुलासा हुआ था इनके ऊपर पंजाब नेशनल बैंक ( Punjab National Bank ) को करीब 14000 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप लगा है मेहुल चोकसी गीतांजली ज्वेलर्स का प्रमोटर है और नीरव मोदी हीरे का कारोबार करता है और अभी तक ये भारत सरकार के हाथ नहीं लगे हैं इन पर अभी जांच चल रही है

अगला नाम है चेतन संदेसरा ये स्टर्लिंग बायोटेक लिमिटेड के मालिक हैं इसी के साथ नीतिन संदेसरा और दिप्तीबेन संदेसरा का है इन तीनों ने 5383 करोड़ रुपये का घोटाला किया
विन्सम डायमंड के मालिक जतीन मेहता पर भी 4,625 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप है रिपोर्ट के अनुसार जतिन मेहता के पास कैरेबियाई की नागरिकता भी मौजूद है 26 मार्च 2014 के बाद से जांच जारी है इसी लिस्ट मैं अगला नाम है मालिक नीलेश का जो गणेश ज्वेलर्स के मालिक हैं कोलकाता के रहने वाले हैं इसी लिस्ट में अगला नाम आता है

कमलेश पारखेजिनके ऊपर 2672 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप है इस लिस्ट में अगला नाम द्वारका दास इंटरनेशन की सभ्या सेठ पर 390 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप है अगला नाम आता है सूर्य फार्मक्यूटिकल्स के राजीव और अल्का गोयल पर भी 621 करोड़ रुपये के गबन का आरोप है और अभी सभी पर जांच चल रही हैIndia Schem :

आम जनता को क्या मिला

वहीं आम जनता का कहना है कि इन उद्योगपतियों के कर्जे को माफ करते करते हमारे ऊपर कभी महंगाई की मार कभी किसी चीज की गहराई कभी किसी चीज की महंगाई सभी बैंकों के द्वारा कोई चार्ज कभी कोई चार्ज लगाकर आम जनता से ही यह पैसा लिया जा रहा है आखिर इसमें आम जनता की क्या गलती है जो उद्योगपतियों की वजह आम जनता से इसका हर्जाना लिया जाता हैIndia Schem :

अगर किसी आम नागरिक के ऊपर ₹10000 का बिजली का बिल भी हो जाता है तो उसके ऊपर एफ आई आर दर्ज कर दी जाती है और जब किसी उद्योगपतियों के पास 10 हजार करोड़ का कर्जा भी हो जाता है तो वह भी उसका माफ कर दिया जाता है तो इसमें बताइए आम जनता को क्या मिला।

टॉप न्यूज़ 

UP Assembly Elections: आज उत्तर प्रदेश में दूसरे चरण के लिए मतदान होने जा रहा है जिसमें 9 जिलों के 55 विधानसभा सीटों पर…

Karnataka: 35-50% learning loss in kids of classes 1-3 due to…

PM मोदी के पंजाब दौरे से छिड़ा हेलीकॉप्टर विवाद, उड़ान रोके.

COVID-19 safety kits despatched to polling centres

Thiruvananthapuram: Relief for VS Achuthanandan in defamation suit filed by Oommen…

State study for ways to phase out polluting power plants |…

Allow us to cover head with dupatta: Students to Karnataka HC…

Board practicals kick-off, held without hiccups | Nagpur News – Times…

supreme court: Rajasthan asked to reserve jobs for transgenders |…