Hariyana रोडवेज

Hariyana रोडवेज: International women day: सिरसा डिपो की बस नंबर HR39E-3154 जो की चंडीगढ़ से सिरसा के लिए शाम को 05:48 बजे रवाना हुई थी। इस बस में 2 लड़किया जो की चंडीगढ़ में पीएचडी की पढ़ाई कर रही वो भी कैथल के लिए बैठ गई।

बस में बैठते ही इन लड़कियों ने अपने कानो में ईयरफोन लगा लिया ओर गाने सुनने लगी।

जब कैथल बस स्टैंड आ गया तो कंडक्टर विकास यादव ने आवाज लगाई की कैंथल बस स्टैंड की सवारी उतर जाये। पर लड़कियों ने परिचालक की आवाज नहीं सुनी। ओर बस कैंथल से सिरसा के लिए चल पड़ी। Hariyana रोडवेज

बस लगभग कैथल से 10 से 15 किलोमीटर आगे बाता गाँव के पास आ चुकी थी, तो कंडक्टर विकास यादव को शक हुआ की इन लड़कियों को तो कैंथल उतरना था।

जब उन लड़कियों से पूछा तो उन्होंने बताया की हमे कैथल उतरना था तो कंडक्टर विकास यादव ने बताया की कैथल तो पीछे जा चूका है आप उतरे क्यों नहीं? तो लड़किया बोली के हमें पता नहीं लगा। Hariyana रोडवेज

तब कंडक्टर ने फ़ोन पर उन लड़कियों के पापा से बात की के आपकी लड़की गलती से आगे आ गई है अब क्या करू, तो उनके पापा ने बोला के बेटा आप इनको बाता बस स्टैंड पर उतार दो में अभी 15 मिनट में कार से इनको लेने आ रहा हूँ।

पर रात ज्यादा होने पर परिचालक विकास यादव ने लड़कियों के अकेला उतारना सही नहीं लगा ओर जब तक लड़कियों के घर वाले ना आ जाये तब तक लगभग 15 मिनट तक बस को वही रोक कर उनका इंतजार किया ओर जब लड़कियों को उनके पापा को सोप दिया तब बस को चलाया।

आज एक बार फिर हरियाणा रोडवेज के चालक-परिचालक विकास यादव c-249 व ड्राइवर रविंदर पाल सिंह ने मानवता का परिचय देते हुए एक बार फिर हरियाणा रोडवेज के नाम को रोशन किया है।